पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इंडिया के” विजय भारत अभियान ” का शुभारंभ

Jaipur Chapter Felicitated

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री
डॉ. पोखरियाल ने किया
पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इंडिया
के” विजय भारत अभियान ” का शुभारंभ
[wpvideo 7cPbTOWD width:640]

‘आत्मनिर्भर भारत’ ‘ मेक इन इंडिया’, तथा अपने पुरातन, ज्ञानकोष नवोन्मेष एवं रचनात्मकता के आधार पर भारत दुनियां में आर्थिक विकास, वैश्विक व्यापार और समावेशी विकास को पुनर्भाषित करेगा। पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इंडिया के ” विजय भारत अभियान” का वेबिनार बैठक के माध्यम से शुभारंभ करते हुए केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने उद्बोधन में यह विश्वास व्यक्त किया।

पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इंडिया जनसम्पर्क एवं जनसंचार प्रोफेशनल्स का 63 वर्ष पुराना संगठन है।

पब्लिक रिलेशंस सोसायटी ऑफ इंडिया द्वारा विगत ढाई महीने से कोरोना संकट और इससे बचाव के उपायों की जानकारी देने के लिए चलाए जा रहे जन जागरूकता अभियान की सराहना करते हुए डाॅ. निशंक ने कहा कि अभी यह संकट कुछ समय तक और रहने वाला है अतः हमें आमजन को इससे सचेत रहने की जानकारी
निरंतर देते रहना है। उन्होंने कहा कि विश्वव्यापी सामाजिक और आर्थिक परिवर्तनशीलता एवं अनिश्चितता के इस दौर में हमें धैर्यवान, सहनशील व नवोन्मेषी रहना है।

National President, PRSI Dr Ajit Pathak

इस अवसर पर पब्लिक रिलेशन्स सोसायटी आॅफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजीत पाठक ने कहा कि डाॅ. निशंक पीआर एस आई की प्रेरणा और सहयोग के सतत् स्त्रोत रहे हैं। उन्होंने कहा कि ” विजय भारत अभियान ” के अंतर्गत पी आर एस आई वर्तमान परिस्थितियों में जनमानस को जागरूक करने के लिए सोनिया मीडिया सहित सभी संचार माध्यमों का उपयोग करेगी। डाॅ. पाठक ने कहा कि विजय अर्जित करने के लिए हमें उत्कृष्ट कार्य निष्पादन करना है। डाॅ. पाठक ने कहा कि ऐसे समय में जब पडौसी देशों के मित्रता रहित व्यवहार का खतरा मंडरा रहा है, हमें अपने सभी मतभेद भुलाकर एकजुट रहना है।

National President, PRSI Dr Ajit Pathak

इस वेबिनार बैठक में पीआर एस आई जयपुर चैप्टर के अध्यक्ष रविशंकर शर्मा और नेशनल काउंसिल सदस्य महेंद्र जैन एवं अविनाश त्रिपाठी सहित पीआर एस आई के राष्ट्रीय पदाधिकारी व सदस्य शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.